CA Full Form in Hindi – सीए कैसे बनें?

CA Full Form Kya Hai

CA full form in Hindi, सीए क्या होता है, CA कैसे बनें, CA course की कितनी fees होती है, CA कितने साल का course होता है, CA की salary कितनी होती है, CA का full form क्या है, सीए का क्या मतलब होता है. अगर आप भी इन्हीं सब सवालों का जबाब चाहते हो तो इस पोस्ट को पूरा जरुर पढ़ें.

दोस्तों, ज्यादातर लोगो का जीवन का एक उद्देश्य होता है की हम अच्छा पढ़ लिखकर कुछ अच्छा बन जाये जैसे की इंजिनियर, डॉक्टर, अकाउंटेंट इत्यादि लेकिन बहुत ही कम लोगो को पता होता है की कैसे वो अपने उद्देश्य को पूरा करें यानी की वो अपनी लाइफ में जो बनना चाहते है उसके लिए किस तरह की और कहाँ से study करनी होती है इत्यादि.

जैसे बहुत से युवाओं का बचपन से CA बनने का सपना होता है लेकिन बहुत ही कम लोगो को पता होता है की CA बनने के लिए उन्हें किस तरह से शुरुआत करनी चाइये, किस तरह की पढ़ाई करनी चाइये और कौन से enterance exam को pass करना चाइये और फिर होता ये है की अच्छी तरह से जानकारी नहीं मिल पाने के कारण कई बार इस कोर्स को नहीं करते हैं.

इसके अलावा बहुत से लोगो को बहुत कम जानकारी होती है और फिर उनको कोर्स करते समय बहुत सारी परेशानियां होती है तो यदि आप CA का कोर्स करने से पहले जानकारी ले लेते हैं तो आगे जाकर आपको किसी भी तरह की दिक्कत नहीं होगी इसलिए आइये जानते है CA का full form क्या है और CA कैसे बनें?

CA Full Form क्या है और CA का क्या मतलब होता है?

CA full form “Chartered Accountant” होती है और CA finance के क्षेत्र में सबसे उच्च पेशेवर पद होता है. सभी बड़ी companies finance से related कोई भी काम यहाँ तक सलाह भी एक Chartered Accountant (CA) से ही लेती हैं.

बहुत से लोग सोचते है की सी.ए का काम सिर्फ अकाउंट संभालना होता है लेकिन एसा नहीं होता एक CA के कई काम होते है. जैसे advice देना, accounts का audit करना, financial records को manage करना इसके अलावा financial reporting, taxation, auditing, forensic accounting, corporate finance, business recovery etc.

चार्टर्ड एकाउंटेंसी कोर्स को पूरा कर लेने वाले व्यक्ति को चार्टर्ड अकाउंटेंट या C.A. कहते है. चार्टर्ड एकाउंटेंसी कोर्स वाणिज्य क्षेत्र का महत्वपूर्ण एंव उच्च स्तर का कोर्स है. यह कोर्स किसी विश्वविध्यालय द्वारा नहीं कराया जाता बल्कि पूरे भारत में इसके लिए एक ही संस्थान “इंस्टिट्यूट ऑफ़ चार्टर्ड एकाउंटेंट्स ऑफ़ इंडिया (Institute of Chartered Accountants of India – ICAI) है.

यह कोर्स मुख्य रूप से लेखांकन (Accounting), ऑडिट (लेखा पुस्तकों की जाँच), कर-कानून (Tax Laws), कम्पनी एंव अन्य वाणिज्यक कानून (Corporate and other Commercial Laws), लागत लेखांकन (Cost Accounting) एंव वितीय प्रबंधन (Financial Management) आदि विषयों पर केन्द्रित है.

यह स्वतंत्र कोर्स है एंव विद्यार्थी चाहे तो इसे स्वंय अध्ययन कर सकता है अथवा चाहे तो प्राइवेट कोचिंग ज्वाइन कर सकता है. आइये जानते है की कैसे आप CA बन सकते हो?

Chartered Accountant (CA) कैसे बनें?

First Step: जैसा की मैंने ऊपर बताया की Chartered Accountant बनने के लिए आपको CA course करना होता है और इस course को आप 2 तरह से कर सकते हो 12वीं के बाद या ग्रेजुएशन के बाद. अगर आप 12वीं के बाद CA शुरू करते हो तो इसके लिए CPT (एंट्रेंस टेस्ट) देना पड़ता है.

अगर आप CA course ग्रेजुएशन बाद शुरू करते हो तो इसके लिए CPT (एंट्रेंस टेस्ट) देने की जरुरत नहीं पड़ती लेकिन अगर कॉमर्स ग्रेजुएट ने ग्रेजुएशन में 55% से कम एंव अन्य ग्रेजुएट (आर्ट्स, साइंस) ने ग्रेजुएशन में 60% से भी कम अंक अर्जित किये है तो आप CPT देना होगा.

Second Step: CPT एग्जाम पास करने के बाद अथवा ग्रेजुएशन (कॉमर्स में न्युनत्तम 55% एंव अन्य में न्यूनतम 60% अंक) पास कर चुके विद्यार्थियों को IPCC के लिए रजिस्ट्रेशन करवाना होता और फिर इसके सभी exams में pass होना होता अहि.

  • जरुर पढ़ें – IPCC Full Form और IPCC Exam की पूरी जानकारी

Third Step: IPCC के 1st ग्रुप अथवा दोनों ग्रुप को पास करने के बाद student को 3 साल की प्रैक्टिकल ट्रेनिंग के लिए रजिस्ट्रेशन करवाना पड़ता है और इस training को articleship कहते है. यह ट्रेनिंग practice कर रहे Chartered Accountant के under की जाती है.

Fourth Step: Articleship के 3 साल पुरे होने के 6 महीने पहले ही सीए (CA) के final exam दे सकते है इसमें आपको बहुत ही एडवांस्ड लेवल  पर एग्जाम क्लियर करना होता है.

Last Step: CA Final की परीक्षा उतीर्ण कर लेने एंव ICAI द्वारा करवाये जाने वाले GMCS Program को पूरा कर लेने पर ICAI से Membership प्राप्त हो जाती है एंव इसके बाद वह अपने नाम के आगे CA लगा सकता है.

Chartered Accountant (CA) करने के बाद Job और Salary

आईसीएआई के सदस्य बनने के बाद यानी CA बनने के बाद आप किसी भी सरकारी-अर्धसरकारी या निजी संस्था के लिए कंपनी सेक्रेटरी, इकोनॉमिस्ट, एकाउंटिंग, बैंकिंग, स्टॉक ब्रोकिंग आदि के पद पर आवेदन कर सकते हैं.

चार्टर्ड एकाउंटेंट (CA) की सैलरी सुरुवात से अच्छी होती है, सीए सरकारी एवं निजी कार्यो में अच्छा वेतन प्राप्त कर लेते है. मेरी जानकारी के अनुसार उनकी सैलरी 25000 -30000 हजार प्रतिमाह से सुरुवात होती है और आगे चलके वो लाखो रुपये प्रतिमाह कमाते है।

Hello Friends, मैं आशा करता हूँ की आपको ये CA Full Form क्या है और CA कैसे बनें post पसंद आई होगी. अगर आपको इस post से related कोई सवाल या सुझाव है तो नीचे comment करें और इस post को अपने दोस्तों के साथ जरुर share करें.