DSL Full Form in Hindi – डी. एस. एल. क्या है?

DSL Full Form in Hindi Kya Hai

DSL Full Form in Hindi क्या होती है, DSL क्या होता है, DSL का Use क्या होता है, DSL कितने Type का होता है, DSL के Advantages क्या है. अगर आप DSL से जुड़े हुए इन्ही सवालों का जबाब खोज रहे है तो ये Post आपके लिए ही है.

आज आपको में इस Post में DSL के बारे में जानकारी देने जा रहा हूँ. मैं आशा करता हूँ कि आप DSL के बारे में जो कुछ भी जानना चाहते है वो आपको इस Post में अवश्य मिल जाये. अगर आप DSL के बारे में अच्छे से समझना चाहते है तो इस Post को पूरा Read जरुर करे.

दोस्तों, आज हम सभी के पास अपना खुद का Smart Phone होता है. घर में जितने लोग उतने ही Mobiles होते है. यह तक की कई घरों में छोटे छोटे बच्चों तक के पास अपना खुद का Smart Phone होता है और उनमें Internet चलाने के लिए सबकी एक एक Sim होती है.

लेकिन एक वक़्त था जब ये सब नही था पुरे घर में Call करने के लिए एक ही Telephone हुआ करता था और Internet भी उसी के द्वारा Use किया जाता था. तो आइये जानते है कि DSL Full Form in Hindi क्या होती है और DSL क्या होता है.

DSL Full Form in Hindi क्या है और DSL क्या है?

DSL Stands for “Digital Subscriber Line (डिजिटल सब्सक्राइबर लाइन)”. DSL का हिंदी में मतलब “अंकीय ग्राहक पंक्ति” होता है. यह एक Technology है जिसमें Telephone Line द्वारा Digital डाटा transfer किया जाता है.

Telephone Line एक Copper की wire होती है जिसके द्वारा Signal Transmit किये जाते है. Voice Signals को Low Frequency (0Hz से 4KHz तक) पर Transmit किया जाता है और Digital Signals को Higher Frequency (25KHz से 1.5MHz तक) पर Transmit किया जाता है जिससे दोनों आपस में Intrect नही कर पाते.

DSL के Types

DSL के बहुत अलग अलग Types होते है-

  • Symmetric DSL (SDSL) – यह Downloading और Uploading दोनों को Same Bandwidth Provide कराता है. यह 1.5 Mbps तक की Speed Provide करा सकता है.
  • Asymmetric DSL (ADSL) – इसमें Downloading Uploading की तुलना में अधिक रहती है. इसमें 7 Mbps तक की Downloading Speed तथा 1.5 Mbps तक की Uploading Speed आती है.
  • Hight Bit-Rate DSL (HDSL) – यह भी एक Symmetric Connection है यानि इसमें Downloading तथा Uploading Speed Same रहती है. यह बड़ी बड़ी Corporate Company में होता है. इसकी Range 12,000–15,000 feet तक होती है.
  • Rate- Adaptive DSL (RADSL) – यह एक Symmetrical और Asymmetrical दोनों ही तरीको से Work करता है. इसमें हम Data Transfer Speed, Bandwidth आदि में Changes भी कर सकते है.
  • Very High Bit-rate DSL (VDSL) – यह अब तक की सबसे तेज Data Transmmition Technology है जिसमें Downloading Speed 13– 52 Mbps तथा Uploading Speed 1.5– 2.3 Mbps तक अधिक होती है.

DSL के Advantages

  • आप एक ही वक़्त पर Internet और Phone Line दोनों का उपयोग कर सकते है.
  • DSL की Speed बाकि सभी Modem से तेज होती है.
  • इसके लिए नई Wiring की जरूरती नही होती इसमें पहले से मौजूद Telephone Line का ही Use किया जाता है.
  • यह Cable Connection से सस्ता होता है.
  • आप अलग Pricing के हिसाब से अलग अलग Connection Speed भी ले सकते है.

Hello Friends, में आशा करता हूँ की आपको ये DSL Full Form in Hindi – डी. एस. एल. क्या है post पसंद आई होगी अगर आपको इस post से related कोई सवाल या सुझाव है तो नीचें comment करें और इस post को अपने दोस्तों के साथ जरुर share करें.