GDP Full Form in Hindi – जीडीपी क्या होता है?

GDP FULL FORM KYA HAI

GDP Full Form in Hindi, GDP का Full Form क्या होता है, जीडीपी क्या होता  है, GDP कैसे Calculate करते है, India की GDP क्या है, GDP का क्या मतलब होता है, जीडीपी का पूरा नाम क्या है. अगर आप भी इन्हीं सब सवालों के जबाब ढूंढ रहे हो तो इस पोस्ट को पूरा जरुर पढ़ें.

जैसा की आप जानते ही हो की भारत क्षेत्रफल की दृष्टि से दुनिया में 7वें स्थान पर है और जनसंख्या में हमारा दूसरा स्थान है. भारतीय अर्थव्यवस्था दिनों दिन अच्छी और मजबूत होती जा रही हैं और आज भारत दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था हैं. अब शायद आप सोच रहे होंगे की अर्थव्यवस्था कैसे मापी जाती है.

जैसे आप अपने पड़ोसी या किसी रिश्तेदार की आर्थिक स्थिति उनके घर-मकान और उनके रहन-सहन को देखकर पता लगते हैं ठीख इसी तरह किसी भी देश की अर्थव्यवस्था यानी की आर्थिक स्थिति को अच्छे से समझने के लिए GDP का उपयोग किया जाता है.

GDP Full Form क्या है और जीडीपी क्या है?

GDP का full form “Gross Domestic Product” है और जीडीपी फुल फॉर्म को हिंदी में “सकल घरेलू उत्पाद” कहते है.

1940 से पहले किसी भी देश की आर्थिक विकास का अनुमान लगाने का काम उस देश की बैंकिंग संस्थाएं करती थी लेकिन कुछ समय बाद GDP का उपयोग होने लगा.

गाेगीी सी भी देश की वस्था हैं. जीडीपी को सबसे पहले अमेरिका के एक अर्थशास्त्री साइमन ने 1935-44 के दौरान इस्तेमाल किया था.

उसके बाद से ही दुनियाभर में इस शब्द को इस्तेमाल करना शुरू कर दिया. भारत ने सन 1950 में इस प्रणाली को अपनाया था. भारत में कृषि, उद्योग और सर्विसेज़ यानी सेवा तीन प्रमुख घटक हैं जिनमें उत्पादन बढ़ने या घटने के औसत के आधार पर जीडीपी दर होती है.

भारत में जीडीपी की गणना प्रत्येक तिमाही में की जाती है. भारत की GDP दर साल 2016-17 में 7.1% पर आ गई है. जीडीपी की गणना इसलिए की जाती है ताकि इस आंकड़े को महंगाई के उतार-चढ़ाव से अलग रखकर मापा जा सके.

नकारात्मक जीडीपी यह निर्धारित करता है कि देश आर्थिक मंदी के दौर से गुजर रहा है. ऐसे समय देश में उत्पादन घट जाता है और बाद बेरोजगारी बढ़ती है जिसकी वजह से हर व्यक्ति की वार्षिक आय भी इससे प्रभावित होती है.

Gross Domestic Product (GDP) कैसे Calculate करें?

जीडीपी को हम दो तरीके से मापते हैं जिसमें से पहला पैमाना है कांस्‍टैंट प्राइस जिसके अंतर्गत जीडीपी की दर व उत्पादन का मूल्य एक आधार वर्ष में उत्पादन की कीमत पर तय किया जाता है. जबकि दूसरा पैमाना करेंट प्राइस है जिसमें उत्पादन वर्ष की महंगाई दर इसमें शामिल होती है.

GDP (सकल घरेलू उत्पाद) = उपभोग + सकल निवेश + सरकारी खर्च + (निर्यात – आयात)

GDP = C + I + G + (X − M)

C (उपभोग) – इसमें अधिकांश घरेलू व्यय जैसे भोजन, किराया, चिकित्सा व्यय और इस तरह के अन्य व्यय शामिल हैं, लेकिन नया घर इसमें शामिल नही हैं.

I (निवेश) – को व्यवसाय या घर के द्वारा पूंजी के रूप में लगाये जाने वाले निवेश के रूप में परिभाषित किया जाता है. यदि धन को माल या सेवाओ में बदला जाता है, यह निवेश है.

G (सरकारी व्यय) – इसमें सरकारी कर्मचारियों का वेतन, सेना के लिए हथियारों की खरीद और सरकार के द्वारा निवेश व्यय शामिल है.

X (निर्यात) – निर्यात को GDP में जोड़ा जाता हैं इसके अंतर्गत अन्य देशो को उपभोग के लिए तैयार किया गया माल या सेवाओं को गिना जाता हैं.

M (आयात) – आयात को घटाया जाता हैं. इसमें आयात की गई वस्तुएं और सेवायें सामिल होती हैं.

Hello Friends, में आशा करता हूँ की आपको ये GDP full form क्या है, जीडीपी क्या है और GDP कैसे Calculate करें post पसंद आई होगी अगर आपको इस post से related कोई सवाल या सुझाव है तो नीचें comment करें और इस post को अपने दोस्तों के साथ जरुर share करें.