GST Full Form in HIndi – जीएसटी क्या है?

GST Full Form Kya Hai

GST Full Form क्या है, GST क्या होता है, GST के क्या Advantage है, GST के क्या Disadvantage है, इस post में हम आज ऐसे ही और कई सवालों का जबाब देंगे आशा करता हूँ के आपका जबाब आपको इस पोस्ट में जरुर मिले.

दोस्तों जैसा के हम जानते है कि हम जो भी purchase (खरीदते) करते है. उस पर हमे tax देना पड़ता है. फिर चाहे आप एक सुई खरीद रहे हो या कोई कार खरीद रहे हो. शायद ऐसा कुछ भी नही है  जिस पर tax लगता ही न हो.

GST Full Form क्या है और GST का क्या मतलब होता है

GST Stands for “Goods and Services Tax” और GST का हिंदी में मतलब होता है कि एक ऐसा tax (कर) जो Goods (वस्तुओं) व Services (सेवाओं) पर लगता है. GST के लागु होने पर वस्तुओं व सर्विसेज पर लगेने वाले अलग अलग टैक्स समाप्त हो गये.

GST की शुरुआत सन 2000 से हुई. सन 2000 में GST Bill पहली बार सामने आया. GST के बनाने से लागु होने तक 17 साल लगे. 3 अगस्त 2016 को GST Bill राज्य सभा द्वारा पास किया गया और 8 अगस्त 2016 को लोक सभा द्वारा पास किया गया. 29 मार्च 2017 को GST Bill पार्लियामेंट द्वारा पास किया गया. 1 जुलाई 2017 को GST Bill पूर्ण रूप से लागु हुआ.

GST के Parts

GST के तीन part होते है-

  1. CGST- ये tax Central Gov. द्वारा वसूला जाता है.
  2. SGST- ये tax State Gov. द्वारा वसूला जाता है.
  3. IGST- ये tax Central Gov. और State Gov. दोनों के द्वारा वसूला जाता है.

GST के Advantage

  1. GST के लगने से वस्तुओं पर लगने वाले अलग अलग tax हट गये और सभी पर एक ही टैक्स लागु होने लगा.
  2. अगर कोई कंपनी किस वस्तु को बनाकर किसी और राज्य में भेजती थी तो उस पर अलग अलग टैक्स लगेने के कारण उसकी कीमत काफी बड जाती थी लेकिन GST के बाद tax एक ही बार लगता है जिससे वस्तु की कीमत में कम बडोतरी होती है.
  3. GST के लागू होने से लग्जरी वस्तुएं का दाम बड़ा और रोजमर्रा कि वस्तुए सस्ती हो गयी.
  4. GST को online network से जोड़ा गया जिससे taxpayer को tax देने में आसानी हो गयी.
  5. Online network होने के कारण tax में पारदर्शीता आई जिससे भ्रष्टाचार और tax कि चोरी लगभग असम्भव हो गयी.

GST के Disadvantage

  1. पहले बैंकिंग व वित्तीय सेवाओ पर लगने वाला tax 15% था लेकिन GST के आने के बाद tax बड़कर 18% हो गया.
  2. GST का भुगतान online होने के कारण छोटे व्यापारी जो इस प्रणाली से अंजन थे उन्हें समस्याओ का सामना करना पड़ा.
  3. GST से पहले online shoping करते समय discount के बाद वस्तुओं पर टैक्स लगाया जाता था पर अब वस्तु की MRP पर tax लगाया जाता है.
  4. कार, एसी, चोकलेट, फ्रिज इत्यादि पर 28% की दर से Tax लिया जाता है जो कि विश्व में किसी भी देश द्वारा ली जाने वाली दर से अधिक है.

Hello Friends, में आशा करता हूँ की आपको ये GST Full Form in HIndi – जीएसटी क्या है post पसंद आई होगी अगर आपको इस post से related कोई सवाल या सुझाव है तो नीचें comment करें और इस post को अपने दोस्तों के साथ जरुर share करें.