PCO Full Form In Hindi – PCO क्या है?

PCO Full Form

PCO Full Form in Hindi क्या होती है, PCO क्या होता है, PCO किसे कहते है, PCO के Advantages क्या क्या है. PCO उपयोग क्यों होता है. पी सी ओ का पूरा नाम क्या है. पीसीओ हमारे लिए क्यों जरूरी है. अगर आप PCO से जुड़े हुए इन्ही सवालों का जबाब खोज रहे है तो ये Post आपके लिए ही है.

आज आपको में इस Post में PCO के बारे में जानकारी देने जा रहा हूँ. मैं आशा करता हूँ कि आप PCO के बारे में जो कुछ भी जानना चाहते है वो आपको इस Post में अवश्य मिल जाये. अगर आप पीसीओ के बारे में अच्छे से समझना चाहते है तो इस Post को पूरा Read जरुर करे.

PCO एक बहुत ही Common Word है जिसे सबने सुना ही होगा. परन्तु PCO Full Form नहीं जानते है. PCO होता क्या है ये भी नहीं जानते है. तो चलिए आइये जानते है की PCO Full Form in Hindi क्या होती है और पीसीओ क्या है.

दोस्तों, जब आपके पास कोई मोबाइल या टेलीफ़ोन नहीं होता है. तब आपको किसी व्यक्ति से बात करनी होती थी तो आप पीसीओ का उपयोग करते है. यह आज के समय में तो इतना प्रसिद्ध नहीं है पर 80 और 90 के दशक में बहुत प्रसिद्ध था. क्योंकि उस दौर में सिर्फ बहुत अमीर लोगो के पास मोबाइल और टेलीफ़ोन हुआ करते थे.

PCO Full Form In Hindi क्या है – पी सी ओ क्या है?

सबसे पहले हम जानेंगे PCO Full Form क्या होती है. To PCO का पूरा नाम “Public Office Call (पब्लिक ऑफिस कॉल)” होता है. इसे हिंदी में सार्वजनिक कार्यालय कॉल कहते है. PCO की मदद से हम एक जगह से हमसे दूर बैठे किसी व्यक्ति से बात कर सकते है.

यह सार्वजनिक क्षेत्र में एक स्थान के लिए संदर्भित (referred) किया जाता है जो एक टेलीफोन सुविधा प्रदान करता है। दूरसंचार क्रांति (revolution) से पहले किफायती संचार के लिए यह बहुत आवश्यक और कुशल माध्यम था। अब आज के समय मैं, हर किसी के पास एक सेल फोन है, यहां तक कि एक स्मार्ट फोन भी है, कुछ समय पहले यह इतना आम (Common) नहीं था।

उस समय, पीसीओ उन जगहों पर एक किफायती संचार मंच प्रदान करता था जहां इसकी आवश्यकता होती थी। भारत में, बहुत सारे पीसीओ बूथ एक रुपये का सिक्का डालकर कॉल करने की सुविधा प्रदान करते हैं। बीएसएनएल पीसीओ के सबसे बड़े सेवा प्रदाताओं में से एक है।

लेकिन अब, रिलायंस, टाटा, आइडिया, वोडाफोन, एयरटेल जैसी कई निजी दूरसंचार कंपनियां भी इस क्षेत्र में प्रवेश कर रही हैं। इन कम्पनयों ने भारत में यह सुविधा बहुत ही कम पेशों में खोल रखी है. आज आपको भारत में हर एक बाजार में पीसीओ बूथ मिल जायेगा.

पीसीओ का पूरा नाम क्या है PCO क्या उपयोग है?

PCO बहुत दूर बैठे आपको आपके सगे संबंधियों से बात चीत करने के लिए एक मंच प्रदान करता है. फिर भले ही वो अपने देश में रहते हो या फिर विदेश में किसी जगह. भारत में ऐसे बहुत सारे पीसीओ बूथ है जिनमे एक रूपये का सिक्का डाल कर बात कर सकते है.

पीसीओ से किसी भी व्यक्ति से बात करने के लिए हमारे पास बस उस व्यक्ति का टेलीफ़ोन नंबर या फिर फ़ोन नंबर होना चाहिए. फिर उस नंबर को हम पीसीओ में डायल करके उस व्यक्ति से बात कर सकते है. उसे अपना मैसेज या कोई भी इनफार्मेशन एक जगह से बैठ कर कई मीलों दूर पंहुचा सकते है.

PCO के क्या क्या फायदे होते है PCO Full Form In Hindi क्या है?

  • पीसीओ की मदद से आपको कोई नया मोबाइल, टेलीफ़ोन लेने की जरूरत नहीं पड़ती है.
  • PCO उपयोग हम अपनी बात को गोपनीय बनाए रखने के लिए करते है.
  • अगर आप चाहते है की आप जिस व्यक्ति से बात कर रहे है वो आपको न पहचाने की वह किस व्यक्ति से बात कर रहा है तो आप पीसीओ का यूज़ कर सकते है. अगर आप इससे कोई गलत काम करते है तो पुलिस आपको आराम से खोज सकती है.
  • पीसीओ इनफार्मेशन ट्रांसफर करने के सबसे सस्ता और आसान तरीका है.
  • इसके रख-रखाव का चार्ज और न ही कोई फिक्स चार्ज लगता है.
  • इसके नेटवर्क भी ज्यादा बिजी नहीं रहते है और वाईस भी एकदम साफ़ आती है.
  • PCO मैं कोई परमिट शुल्क नहीं लगता है. आप जितने बात करते है उतनी हे पेसे आपको देने होते है.

यह भी पढ़ें

SIM Full Form In Hindi – सिम क्या है?

Hello दोस्तों, मैं आशा करता हूँ की आपको PCO Full Form In Hindi – PCO क्या है Post पसंद आई होगी अगर आपको इस Post से Related कोई सवाल या सुझाव है तो Comment करें .और इस Post को अपने दोस्तों के साथ जरूर Share करें.