RAM Full Form in Hindi – रैम क्या होती है?

RAM Full Form in Hindi Kya Hai

RAM Full Form in Hindi क्या होती है, RAM क्या होता है, RAM के कितने Type होते है, किसी Laptop या Smartphone कि Speed RAM पर कैसे निर्भर करती है. अगर आप RAM से जुड़े हुए इन्ही सवालों का जबाब खोज रहे है तो ये Post आपके लिए ही है.

आज आपको में इस Post में RAM के बारे में जानकारी देने जा रहा हूँ. मैं आशा करता हूँ कि आप RAM के बारे में जो कुछ भी जानना चाहते है वो आपको इस Post में अवश्य मिल जाये. अगर आप RAM के बारे में अच्छे से समझना चाहते है तो इस Post को पूरा Read जरुर करे.

दोस्तों, अगर आपने कभी Computer, Laptop या Smartphone use किया है तो आपको RAM के बारे में तो सुना ही होगा या जब भी हम Computer, Laptop या Smartphone खरीदने जाते है तो हमारा एक सवाल ये भी होता है कि उसमे RAM कितनी है.

मैं आपको RAM के बारे में बताने से पहले Memory के बारे में समझाऊंगा. एक Deivce में Memory दो Type कि होती है- Primary Memory और Secondary Memory. जो RAM होती है वह Primary Memory का हिस्सा होती है.

RAM Full Form in Hindi क्या है और RAM क्या होती है?

RAM Stands For “Random Access Memory (रैंडम एक्सेस मेमोरी)”. RAM को हिंदी में “यादृच्छिक अभिगम स्मृति” कहते है. यह एक Volatile (परिवर्तनशील) Memory होती है. किसी Device में Use होने वाली Apps इसी के द्वारा Access कि जाती है.

आपने सुना होगा कि RAM एक Virtual Memory है इसका मतलब यह होता है कि RAM में कोई Data तभी तक सुरक्षित रहता है जब तक की उसमे Power आती रहती है Power Cut होते ही RAM में मौजूद Data नष्ट हो जाता है.

आपके Computer में मौजूद डाटा (OS, Files, Images आदि) Secondary Memory में उपस्थित रहता है जब आप अपना Computer Start करते है तो Secondary Memory में उपस्थित डाटा को RAM में भेजा जाता है.

ऐसा इसलिए किया जाता है क्योकि Secondary Memory Slow होती है उससे किसी डाटा को आसानी से Access नही किया जा सकता इसलिए RAM का Use किया जाता है ताकि किसी डाटा को आसानी व तेजी से Access किया जा सकता है.

RAM के Types

RAM दो प्रकार कि होती है-

SRAM – इसका पूरा नाम Static Rendom Access Memory होता है. इसके कोई डाटा तब तक मौजूद रहता है जब तक इसमें Power Flow बना रहता है. इसे हमे बार बार Refresh  करने कि जरूरत नही होती है.

SRAM सबसे Fast Memory होती है. यह सबसे ज्यादा Power का भी Consume करती है और यह बाकियों कि Price से काफी महंगी भी होती है. इसे हम Cache Memory के रूप में भी Use कर सकते है.

DRAM – इसका पूरा नाम Dynamic Rendom Access Memory होता है. यह एक Semi- Conductor Memory होती है जिसमे छोटे- छोटे अलग- अलग Capacitor होते है जिसमे डाटा के हर एक Bit को Store किया जाता है.

इसे बार बार Refresh करना पड़ता है. यह Power को कम Consume करती है और इसका Price भी काफी कम होता है. यह Static RAM कि बिल्कुल विपरीत होती है.

Laptop या Smartphone कि Speed RAM पर कैसे निर्भर करती है?

जब भी आप कोई Laptop या Smartphone खरीदने जाते है तो आपका एक सवाल यह भी होता है कि उसमे RAM कितनी है क्योकि एक Device कि Speed उसमे मौजूद RAM पर निर्भर करती है.

आपको में ऊपर ये तो बता ही चुका हूँ कि Secondary Memory से Computer नही चलाया जा सकता इसके लिए RAM का Use किया जाता क्योकि यह Secondary Memory से ज्यादा Fast होता है.

जब आप कोई भी Comptuer या Smartphone को Start करते है तो वह Start होने से पहले थोडा Time लेता है उस वक्त वह डाटा को Secondary Memory में से RAM में Transfer कर रहा होता है.

जब यह Process पूरा हो जाता है तो Computer Start हो जाता है. अब आप से सोच रहे होंगे कि हमारे PC में RAM 1GB, 2GB या 8GB तक होती है और Hard Disk 500GB या 1TB तक होती है.

तो इतना डाटा RAM में कैसे आ जाता होगा. दरअसल RAM में जरूरत के हिसाब से ही डाटा भेजा जाता है जितनी जरूरत है उतना ही. जब हम कोई Application Open करते है तो Useless Data को RAM से हटा दिया जाता है और उस Application का डाटा RAM में भेज दिया जाता है.

नोट- आपके Device में जितनी ज्यादा RAM होगी उसमे Data उतनी ही तेजी से Transfer होगा जिससे आपके Device कि Speed बड जाएगी.

Hello Friends, मैं आशा करता हूँ की आपको RAM Full Form in Hindi – रैम क्या होती है post पसंद आई होगी. अगर आपको इस post से related कोई सवाल या सुझाव है तो नीचे comment करें और इस post को अपने दोस्तों के साथ जरुर share करें.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *